134 views 0 comments

मोदी कैबिनेट की मौजूदगी में हुई स्वामी रामदेव एक संघर्ष की स्क्रीनिंग

by on February 10, 2018
 
Spread the love

योग गुरु बाबा रामदेव के जीवन पर आधारित धारावाहिक स्वामी रामदेव एक संघर्ष का शनिवार को छत्रसाल स्टेडियम में स्क्रीनिंग का आया‌ेज‌न किया गया। ‌डिस्कवरी के नए चैनल डिस्कवरी जीत पर सोमवार से इस धारावाहिक को दिखाया जाएगा। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मोदी कैबिनेट के दिग्गज मंत्री अरुण जेटली, रविशंकर प्रसाद, हर्षवर्धन और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में इस समारोह का आयोजन किया गया। पतंजलि से जुड़े करीब 20 हजार अनुयायी रामदेव के संघर्ष पर आधारित धारावाहिक की स्क्रीनिंग में पहुंचे। प्रशंसकों से खचाखच भरे स्टेडियम में समारोह का शुभारंभ हवन से किया गया। शाम करीब चार बजे स्वामी रामदेव अमित शाह के साथ छत्रसाल स्टेडियम पहुंचे। जिसके बाद कार्यक्रम की शुरुआत की गई।

बालकृष्ण ने किया मंच का संचालन

पतंजलि समूह के मालिक और बाबा रामदेव के करीबी बालकृष्ण ने स्वयं कार्यक्रम के दौरान मंच का संचालन किया। शुरुआत में छोटे बच्चों ने कठिन योग क्रियाओं को बेहद सहजता के साथ करके दिखाया। बेहद कम उम्र के बच्चों द्वारा की गई योग क्रियाओं को देखकर सभी दंग रह गए। जिसके बाद धारावाहिक की एक घंटे की स्क्रीनिंग दिखाई गई।

Swami Ramdev Ek Sangharsh premier organised  at Chhatersal Stadium
रामदेव ने बचपन में झेला स्वर्णों का अत्याचार…

मीडिया और पतंजलि से जुड़े रामदेव के अनुयायियों के लिए विशेष रूप से डिस्कवरी चैनल द्वारा आयोजित की गई स्क्रीनिंग में रामदेव के बालपन से जुड़ा एपिसोड दिखाया गया। एक घंटे की स्क्रीनिंग में रामदेव के नटखट स्वभाव से लेकर स्वर्णों द्वारा पिछड़ी जाति पर किए अत्याचार को दिखाया गया है। रामदेव और उनके परिवार को छोटी जाति का होने का दंश झेलना पड़ा, लेकिन सभी सामाजिक बाधाओं को पार करते हुए वह कभी रुके नहीं और समाज में अपनी एक अलग पहचान बनाई।

190 देशों के लोग देखेंगे रामदेव का जीवन संघर्ष

डिस्कवरी इंडिया के उपाध्यक्ष करण बजाज ने बताया कि डिजिटल माध्यम से 190 देशों में स्वामी जी के जीवन पर आधारित धारावाहिक को दिखाया जाएगा। स्वामी जी का जीवन लोगों के लिए एक मिसाल है। उन्होंने योग के माध्यम से भारत ही नहीं दुनियां में क्रांति ला दी है। अगर भारत के किसी छोटे से गांव में कोई बच्चा सपना देखता है कि उसे समाज में कोई परिवर्तन लाना है तो उसे पीछे नहीं हटना चाहिए बल्कि स्वामी जी की तरह ही आगे बढ़कर सपने को पूरा करने के लिए संघर्ष करना चाहिए।

Swami Ramdev Ek Sangharsh premier organised  at Chhatersal Stadium

जब अटल बिहारी वाजपेयी ने रजत शर्मा से पूछा, ये युवक कौन है?

बाबा रामदेव पहले योग के माध्यम से देश दुनिया में चर्चित हुए और फिर स्वदेशी उत्पाद बनाने के बाद देश के सफल उद्योगपतियों में भी उनकी गिनती होने लगी। यह बात कम ही लोग जानते हैं कि स्वामी रामदेव का टीवी पर इंटरव्यू देखने के बाद स्वयं पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी प्रभावित हुए थे। स्क्रीनिंग में बतौर अतिथि पहुंचे रजत शर्मा ने बाबा रामदेव के आपकी अदालत में हुए पहले इंटरव्यू का जिक्र करते हुए बताया कि इंटरव्यू प्रसारित होने के बाद स्वयं उन्हें तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का फोन आया था। उन्होंने मुझसे पूछा कि यह कौन व्यक्ति है जिसका इंटरव्यू तुमने किया है। अक्सर तुम्हारे तीखे सवालों पर जनता को तालियां बजाते देखा है लेकिन इस इंटरव्यू में रामदेव की हाजिर जवाबी के लिए जनता ने खूब तालियां बजाई।

अमित शाह-

अपने योग के कारण प्रख्यात हुए रामदेव ने पतंजलि को 10 हजार करोड़ का समूह बनाया। उनमें एक सफल उद्योगपति वाले सभी गुण हैं। मार्केटिंग, पैकेजिंग, मेन्युफैक्चरिंग लगभग सभी क्षेत्रों में उन्हें महारथ हासिल है, जिसकी बदौलत पतंजलि आज यहां तक पहुंच सका है।

रविशंकर प्रसाद

स्वामी जी की मेहनत के कारण ही संयुक्त राष्ट्र ने योग को मान्यता दी। आज 100 से अधिक देशों में योग किया जाता है।

 

Be the first to comment!
 
Leave a reply »

 

You must log in to post a comment